Option Trading Risk In Hindi | ऑप्शन ट्रेडिंग के रिस्क को कैसे Manage करे

Option Trading Risk In Hindi
Rate this post

Option Trading एक Popular Investment Strategy है Option Trading Risk के साथ के साथ आता है जो व्यक्तियों को एक Underline Asset, जैसे Stocks, Commodities या Currencies के Prices के Movement पर अनुमान लगाने को Allow करता है। Option Contracts को Buy और Sell करके, Trader को वास्तव में Underline Asset के मालिकाना हक के बिना Price Movement से संभावित रूप से Profit हो सकता है। हालांकि, Option Trading के अपने Risk भी हैं, और सफल होने के लिए Traders के लिए इन Risks को समझना और Mange करना महत्वपूर्ण है। इस Article में, हम Option Trading कें विभिन्न प्रकार Risks के साथ-साथ इन Risks को Manage करने और कम करने की Strategies पर चर्चा करेंगे।


Option Trading Risk Types In Hindi – ऑप्शन ट्रेडिंग रिस्क के प्रकार

Option Trading Risks कई प्रकार के होते हैं जिनके बारे में एक Trader को पता होना चाहिए। जो निम्न है ।

Market Risk

यह उस Risk को दर्शाती है कि Underline Asset की Price Trader की Position के विरुद्ध जाएगी इस को । उदाहरण के लिए, यदि कोई Trader Call Option Buy है, तो उसको View होता हैं कि Underline Asset की Price बढ़ जाएगी। इसके बजाय अगर Price गिरती है, तो Trader को पैसे का नुकसान होगा। Marker Risk Trading और Investment के सभी रूपों में मौजूद है ।

Volatility Risk

यह उस Risk को दर्शाती है कि Underline Asset की Price कीमत अपेक्षा से अधिक Volatile होगी। Volatility Option Contracts की Price कीमत को प्रभावित कर सकती है, जिससे वे अपेक्षाकृत से अधिक महंगे या कम मूल्यवान हो जाते हैं। यह तब हो सकता है जब Market की Conditions में अचानक परिवर्तन हो, जैसे प्राकृतिक आपदा या कोई बड़ी राजनीतिक घटना।

Time Decy Risk

यह उस Risk को दर्शाती है कि एक Option Contracts का Price इसकी Expire Date के करीब आने पर घट जाएगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि एक Option Contracts Expire के जितना करीब होता है, Underline Asset की Price को Desired Direction में बढ़ने के लिए उतना ही कम समय मिलता है। नतीजतन, Time decay का Option Traders के Profits पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है।

Interest Rates Risk

यह उस Risk को दर्शाती है Interest rates मे परिवर्तन Option Contracts की Price को प्रभावित करेगा। जब Interest rates बढ़ती है तो Option Contracts का Price आम तौर पर घट जाएगा, और इसके विपरीत। ऐसा इसलिए है क्योंकि Interest Rates में परिवर्तन उधार लेने की लागत और Underline Asset के Price को प्रभावित कर सकता है।

Credit Risk

यह उस Risk को दर्शाती है कि एक Option Trader के लिए Counter party Agreed Price पर Underline Asset को Buy करने या Sell करने के अपने Obligation पर Default होगा। Option Trading में यह Risk आम तौर पर कम होता है, लेकिन इसके बारे में जागरूक होना अभी भी महत्वपूर्ण है ।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि सभी Option Trading Strategies में सभी प्रकार के Risks मौजूद होते हैं। Traders को यह समझने की जरूरत है कि उन्हें Effectively कैसे Mange करना है और उनकी Strategies में किस प्रकार के Risk मौजूद हैं ।


Option Trading Risk Management Strategies – ऑप्शन ट्रेडिंग रिस्क मैनेजमेंट स्ट्रेटजी


Option Trading में Risk Management सफलता के लिए महत्वपूर्ण है। Option Trading में Risk Mange के लिए यहां कुछ Strategies दी गई हैं ।

Diversification

विभिन्न Underline Assets में Invest निवेश करके अपने Options में विविधता Diversification लाने से आपके Risk को कम करने मे मदद मिल सकती है। यह किसी एक विशेष Trade या Market में होने वाले नुकसान से बचाने में मदद कर सकता है ।

Hedging

Hedging एक Risk Management की Strategy है जिसमें संभावित नुकसान को Offset करने के लिए एक Option Contract में एक Condition मे लेना शामिल है जो आपकी मौजूदा Condition के विपरीत है। उदाहरण के लिए, यदि आप एक Stock के मालिक हैं और इसकी कीमत में संभावित गिरावट के बारे में चिंतित हैं, तो आप Hedging के रूप में उस Stock पर Put Option खरीद सकते हैं।

Position Sizing

Position Sizing आपके Risk Tolerance और Investment Amount के आधार पर Trade करने के लिए Right Number में Option Contracts को निर्धारित करने की प्रक्रिया को दर्शाया करता है। अपने Trade के Sizes को सावधानीपूर्वक Manage करके, आप अपने संभावित Losses को Control करने में मदद कर सकते हैं ।

Stop–Loss Order का Use करे

Stop-loss Order एक प्रकार का Order है जो Possible Losses को सीमित करने में मदद करते हुए एक Specific Price पर Automatically से Trade को Exit कर देता है। Options में Trade करते समय यह उपयोगी हो सकता है क्योंकि यह आपको किसी Specific Trade के लिए अधिकतम Losses निर्धारित करने को Allow कर देता है।


Stock Market Conversion के लिए हमारा Telegram Channel Join करे । – Join Now


Option Spread का उपयोग करना

एक Option Spread एक ऐसी Strategy है जिसमें एक Option Buy करना और साथ ही साथ दूसरे Option को Sell करना शामिल है। यह एक Conditions में संभावित Losses को दूसरे में Profit के साथ Offset करके Risk को Limited करने में मदद कर सकता है। कुछ Popular Option Spread Strategies में Bull Call Spread, Bear Put Spread और Iron Condors शामिल हैं ।

यह नोट करना महत्वपूर्ण है कि कोई भी Strategy Success की गारंटी नहीं देती है या सभी Risk को समाप्त नहीं करती है और किसी भी Trade को निष्पादित करने से पहले Underline Asset, Market की Conditions और Strategy की अच्छी समझ होना महत्वपूर्ण है। कोई भी Investment Decision लेने से पहले एक Financial Advisor से सलाह जरूर ले ।


Option Trading Risk से जुड़े FAQ

Option Trading मे Loss कब होता है ?

Option Trading मे Losses होते है जब आपका View है Market ऊपर जाएगा और आपने Call Option buy कर रखा हो और तब वह नीचे चला जाए, Stop-loss पर Trade ना Exit करने पर etc पर Losses होते है ।

Option Trading मे Profit कब होता है ?

Option Trading मे Profit तब होता है जब आपका View है Market ऊपर जाएगा और आपने Call Option Buy किया है और वह ऊपर चलाए तब वह Profits बनाता है ।

Conclusion

Option Trading एक Popular Investment Strategy है जो संभावित रूप से महत्वपूर्ण Return प्रदान कर सकती है, लेकिन इसके अपने Risk भी हैं। Option Trading में सफलता के लिए इन Risks को समझना और Mange करना महत्वपूर्ण है। विभिन्न प्रकार के Risk से सतर्क होकर, जैसे Market Risk, Volatility Risk, Time Decay Risk, Interest Rate Risk , और Credit Risk Trader अपने Trade के बारे में Meaningful Decision ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त Diversification, Hedging, Position sizing, Stop-loss Order का उपयोग करने और Option Spread का उपयोग करने जैसी Risk Management Strategies को लागू करके, Trader संभावित Losses को कम करने और Profit की संभावना बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। Option Trading में सफलता की Key Market और Underline Asset की Solid समझ के साथ-साथ एक Risk Management Plan है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *