Trendline Meaning In Hindi | Trend In Stock Market In Hindi

Trendline Meaning In Hindi | Trend In Stock Market In Hindi
Rate this post

Trendline आसानी से पहचानी जाने वाली Line होती हैं, जिन्हें Traders, Price की एक Series को Chart पर जोड़कर बनाते हैं। जिससे Trader Price की दिशा (Trend) का पता लगा सकते हैं। जिससे उन्हें यह पता चलता है कि उन्हें किस दिशा में (Long या Short) Trade लेना चाहिए। जिससे वह Profit कमाने में सफल हो सके। Trendline Price का Trend देखने के लिए Pivot High के ऊपर और Pivot Low Price के नीचे खींची जाने वाली Line होती है।

Trendline सभी Time-Frame में Support And Resistance को Represent है, यह Price की Direction और Movmetum को Represent हैं। Trendline Price Correction की Period में बनने वाले Pattern को भी Represent करती है। विस्तार से जानते हैं ।

Channel भी Technical Analysis का एक महत्वपूर्ण Tool है। इसके द्वारा Traders और Investors, Stocks, Commodity, Currency और दूसरे Investment Instrument को खरीदने और बेचने के लिए उनके सही Price का पता लगाने के लिए किया जा सकता है। 

Trendlines बनाने लिए आपको Chart पर 2 Top Price को, आपस में Connect करते हुए एक Line खींचनी चाहिए। इसी तरह दूसरी Line 2 Low Price(Bottom) को Connect करते हुए खींचनी चाहिए। इस तरह Trendline बन जाएगी। वर्तमान में कौन सा Trend चल रहा है यह भी आपको पता चल जायेगा।

एक Valid Trendline बनाने के लिए कम से कम 2 Top या 2 Botyom को Connect करना बेहद जरूरी है। आप जितनी ज्यादा Trendline खीचेंगे, यह उतनी ही कम Reliability होंगी और जल्दी टूटेंगी। Horizontal, Support and Resistance Level की तरह Trendline जितनी बार Test की जाती हैं, यह उतनी ही ज्यादा Strong हो जाती हैं। 

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि कभी भी Trendline को मन से फिट करके Chart पर नहीं लगाना चाहिए। यदि वे Market के Trend के अनुसार नहीं बैठती तो ऐसी Trendline Valid नहीं होती हैं

Trend कितने प्रकार के होते हैं? 

Stock Market मे Trend निम्नलिखित तीन प्रकार के होते हैं ।

Uptrend Meaning In Hindi – अपट्रेंड का हिन्दी मे अर्थ

Uptrend Market में Price Movement जिसमे प्रत्येक High Price पिछले High Price से ऊपर होता है और अगला Low Price पिछले Low Price से ऊपर होता है। 

Downtrend Meaning In Hindi – डाउनट्रेंड का हिन्दी मे अर्थ

Downtrend Market Movement जिसमे प्रत्येक अगला High Price पिछले High से नीचे होता है और प्रत्येक अगला Low Price पिछले Low Price से नीचे होता है। 

Sidewaytrend Meaning In Hindi – साइडवेट्रेंड का हिन्दी मे अर्थ

Sideway Market में प्राइस का मूवमेंट स्थिर रहता है। यानि की share का अगला हाई प्राइस पिछले हाई प्राइस के बराबर होता है। इसी तरह share का लो प्राइस पिछले लो प्राइस के बराबर होता है। Sideway Market  में निचले प्राइस पर शेयर को खरीदकर और ऊपरी प्राइस पर share को बेचकर स्केल्पिंग की जा  सकती है।

Channels Meaning In Stock Market In Hindi

Channel भी Technical Analysis का एक Important Tool है। इसके द्वारा Traders और Investors Stocks, Commodity, Currency और दूसरे Investment Instrument को खरीदने और बेचने के लिए उनके सही Price का पता लगाने के लिए किया जा सकता है। आप Channel की ऊपरी Line के पास आने पर Share को बेच सकते हैं और Channel की निचली Trendline पर Shares को खरीद सकते हैं।  

यदि आप Trendline Theory को और दो कदम आगे ले जाना चाहते हैं। आपको Uptrend के High Point के समानांतर एक Line खींचनी चाहिए और दूसरी लाइन Downtrend के Low Point के समानांतर खींचनी चाहिए। इससे एक channel बन जायेगा, इस channel का उपयोग करके आप share खरीदने और बेचने का सही निर्णय ले सकते हैं। 

channel टॉप और बॉटम अच्छी तरह दर्शाता है, जिससे आप support and resistance के सामर्थ्य को अच्छे से समझ सकते हैं। Channels की ऊपरी लाइन resistance को और निचली लाइन support को दर्शाती है।

Channels भी तीन प्रकार के  होते हैं- Ascending Channel, Descending Channel, Horizontal Channel

Ascending Channel

Ascending Channel में price action ऊपर की तरफ झुकी समानांतर लाइनों के बीच निहित होता है। इसमें प्राइस pattern हायर हाई हायर लो (Higher high and higher lows) बनाता है। इसमें वर्तमान swing लो प्राइस को जोड़ते हुए channel की निचली लाइन बनाई जाती है और वर्तमान हाई प्राइस को जोड़ते हुए channel की ऊपरी लाइन बनायीं जाती है। Ascending Channel uptrend में बनता है, इसमें trendline के बीच का स्थान चढ़ते हुए प्राइस एक्शन और ascending Channel को दर्शाता है। 

Descending Channel

descending channel downtrend  में बनता है, इसमें वर्तमान प्राइस एक्शन लोअर लो एंड लोअर हाई (Lower low and lower high) बनता है। इसमें भी वर्तमान प्राइस के लोअर हाई को जोड़कर ऊपरी लाइन बनायी जाती है तथा इसी के समानांतर निचली लाइन वर्तमान लोअर लो प्राइस को जोड़कर बनायीं जाती है। descending channel downtrend को दर्शाता है। इसमें trendline के बीच का स्थान गिरते हुए प्राइस एक्शन और डिसेंडिंग चैनल को दर्शाता है।

Horizontal Channel

horizontal channel की trendline प्राइस के पिवट हाई और पिवट लो को दर्शाती हैं। इसमें प्राइस एक रेंज में यानि sideways होते हैं तथा ऊपरी लाइन resistance और निचली लाइन support प्राइस को दर्शाती है। इसमें अगला हाई प्राइस पिछले हाई के बराबर होता है, इसी तरह अगला लो प्राइस पिछले लो के बराबर होता है। इसमें trendline के बीच का स्थान एक समान लो और एक समान हाई प्राइस एक्शन और sideways चैनल को दर्शाता है। 

Difference Between Trendlines And Channels In Hindi – ट्रेंडलाइनस् और चैनलस् के बीच अंतर  

एक chart  पर कई trendlines बनायी जा सकती हैं। traders, channel बनाने के लिए अक्सर एक टाइम फ्रेम के हाई प्राइस को कनेक्ट करते हुए एक trendline खींचते हैं और दूसरी trendline लो प्राइस को कनेक्ट करते हुए खींचते हैं। channel का उपयोग एक टाइम फ्रेम में Support and Resistance लेवल का विश्लेषण करने के लिए किया जाता है। 

लेकिन trendline का उपयोग traders ,channel के बाहर breakout or spike की पहचान करने इ लिए करते हैं। साथ ही trendlines का प्रयोग trade में एंट्री और एग्जिट के लिए भी किया जाता है। इसके हिसाब से traders अपने trade प्लान बनाते हैं। 

Trendline की सीमाएँ 

नया और ज्यादा प्राइस data मिलने पर trendlines को दोबारा से अलग तरीके से बनाया जा सकता है। trendline कभी-कभी लम्बे समय तक चलतीं हैं जिससे प्राइस एक्शन विचलित हो जाता है। जिसे फिर से update करने की जरूरत पड़ती है। इसके आलावा traders कनेक्ट करने के लिए अलग-अलग डेटा पॉइंट चुनते हैं। 

उदाहरण स्वरूप- कुछ ट्रेडर्स लोएस्ट लो प्राइस और कुछ निश्चित टाइम फ्रेम में lowest क्लोजिंग प्राइस को चुनते हैं। कम टाइम फ्रेम में trendline, volume से भी प्रभावित हो सकती है। कम volume पर बनी trendline सेशन के दौरान volume बढ़ने पर बहुत ही आसानी से break हो सकती है।

Trends YouTube Video

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *